20/06/2024

सहारा इंडिया के निवेशकों के लिए खुशखबरी, जमा राशि के अतिरिक्त 100000 मुआवजा भी मिलेगा

By Vishal Ki Report जनवरी 13, 2024

Credit- Vishal ki report


सहारा समूह में देश के करोड़ों निवेशकों का पैसा फंसा हुआ है। सुप्रीम कोर्ट से लेकर सीआरसी और सेबी से लेकर सहारा तक मामला इधर से उधर घूम रहा था। लेकिन अभी कोर्ट से सहारा के निवेशकों को अपना रिफंड पैसे की अतिरिक्त ₹100,000 मुआवजा भी मिलेगा। ऐसा गुड़गांव के उपभोक्ता फोरम से आदेश आया है। जी हां आप बिल्कुल सही सुन रहे हैं। आपको मालूम होगा सहारा इंडिया में जमा पैसे के भुगतान के लिए सीआरसीएस यानी सहकारिता मंत्रालय के प्रमुख मंत्री और गृहमंत्री अमित शाह की अगवाई में सहारा रिफंड पोर्टल को लांच किया था। जिसके जरिए निवेशक अपने दावे का क्लेम एप्लीकेशन देखकर दावा प्रस्तुत कर सकते थे। और उन्हें पहली किस्त में केवल ₹10000 मिलने थे। कुछ आदमियों का पैसा आ भी रहा है । लेकिन अधिकतर लोगों का पैसा किसी न किसी वजह से मैनि डिफिशिएंसी यानी एक से अधिक कमियां डालकर रिजेक्ट कर दिया जा रहा था। उनके दावे का मिलन नहीं हो पा रही है । 18 जुलाई 2023 को सहकारिता मंत्रालय द्वारा पोर्टल लांच होने के बाद कुछ लोगों को विश्वास था। अमित शाह ने जो दावा किया था वह सच होगा । 4 महीने में आम निवेशकों को पैसा मिल जाएगा। लेकिन जुलाई से जनवरी आ गया है यानी 6 महीना बीत रहे हैं।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा था कि निवेशकों को 45 दिन में₹10000 रिफंड होगा

गृहमंत्री अमित शाह का दावा भी खुश होता हुआ नजर आ रहा है क्योंकि उन्होंने कहा था कि 45 दिन में पैसा मिलेगा अधिकतर निवेशकों के 45 दिन से ज्यादा समय हो गए। लेकिन अभी तक अधिकतर लोगों का पैसा नहीं आया है रिक्वेस्ट रिजेक्ट कर दी जा रही है। लेकिन इस बीच 12 जनवरी 2024 को सहारा इंडिया के निवेशकों के लिए अच्छी खबर आई है कि सहारा इंडिया के खिलाफ धरना देकर अलग-अलग जगह पर प्रदर्शन कर रहे लोगों में से एक महिला ने सहारा कंपनी के खिलाफ उपभोक्ता फोरम में आवेदन दिया कि समय पूरा होने के बावजूद उसे ना मेच्योरिटी राशि मिली ना ही ब्याज । जिसकी सुनवाई पर उपभोक्ता फोरम ने निवेशकों को में मेच्योरिटी राशि के साथ 9% ब्याज देने और इसके अतिरिक्त ₹100,000 महिला को परेशान करने की वजह से मुआवजा देने का ऐलान किया है। यह आदेश जिला उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग के अध्यक्ष संजीव जी जिंदल द्वारा प्रदान किया गया है । अधिकतर नागरिक जिसका पैसा सहारा के अंदर फंसा है वह चाहते है कि उसकी जमा राशि ब्याज समेत मिल जाए ।

Sahara refund portal

सहारा रिफंड पोर्टल, सहारा इंडिया के निवेशकों को मुआवजा समेत मिलेगा पैसा

बता दे हरियाणा के गुड़गांव निवासी वूमेन कटारिया ने बताया है कि उन्होंने 2016 में एक एजेंट के जरिए सहारा इंडिया कंपनी में 6 लाख 78000 का निवेश किया था। सहारा से 2021 में मिलने वाले पैसे अभी तक नहीं मिले और उन्हें आश्वासन दिया गया की मैच्योरिटी पूरी होने पर जून 2021 में उन्हें 13,83000 मिलेंगे । लेकिन 2021 तो छोड़ दीजिए 2022 में भी पैसा नहीं मिला है। ऐसे में 10 महीने बाद भी पैसा ना मिलने से परेशान महिला ने अप्रैल 2022 में सहारा इंडिया कंपनी को लीगल नोटिस भेजा । इसके बाद उपभोक्ता आयोग में सहारा इंडिया कंपनी के खिलाफ याचिका दायर की दोनों पक्षों को सुनने के बाद आयोग द्वारा सहारा इंडिया को आदेश दिया गया कि वह निवेशकों को 13,83000 + 9% ब्याज के साथ रकम लौट आए और अब तक कानूनी प्रक्रिया में खर्च होने वाले 55000 देने का भी आदेश जारी किया है।

 

अमित शाह ने लॉन्च किया था, सहारा रिफंड पोर्टल


सभी को मालूम है जुलाई 2023 में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सहारा रिफंड पोर्टल जारी किया जिसके जरिए दावा किया गया था। कि रजिस्ट्रेशन करने वाले निवेशकों को 45 दिन में प्रथम किस्त के तौर पर ₹10000 मिलेंगे । शेष के बारे में गोला गोपाली करते हुए अभी भी नोटिफिकेशन नहीं जारी की गई है। लेकिन अभी तक पहली किस्त के तौर पर ₹10000 आने वालों की संख्या बहुत कम है। और अधिकतर यानी 90% के करीब लोगों की एप्लीकेशन को रिजेक्ट करते हुए डिफिशिएंसी बताई गई । फिर सहारा रि सबमिशन पोर्टल आया । वहां पर भी अधिकतर लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

सहारा इंडिया रिफंड पोर्टल से कैसे मिलेगा पैसा

By Vishal Ki Report

2017 में देश की राजधानी दिल्ली से पत्रकारिता में PGDJMC और MJMC पढ़ाई के साथ पत्रकारिता में उतारते हुए फर्स्ट डिग्री पास करने के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अल- जजीरा , राइटर और एजेंसी ऑफ फ्रांस प्रेस AFP और गूगल न्यूज़ इंस्टिट्यूट के साथ पत्रकारिता फैक्ट चेक , टीवी पत्रकारिता और डिजिटल पत्रकारिता क्षेत्र में ( TV + PRINT + DIGITAL ) में अनुभव के साथ एक दर्जन से अधिक सर्टिफिकेट कोर्स पास के साथ पत्रकारिता करने का 7 वर्षों का देश के अलग-अलग हिस्सों का अनुभव....

Related Post

संबंधित खबरें