23/06/2024

सफला एकादशी व्रत कथा | safala ekadashi vrat katha

By Vishal Ki Report जनवरी 7, 2024

सफला एकादशी व्रत कथा एक बहुत ही प्राचीन और पावन कथा है, जिसमें बताया गया है कि कैसे एक महापापी राजपुत्र लुम्पक ने अनजाने में इस व्रत को करके भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त की और अपने पिता का राज्य वापस पाया।

सफला एकादशी व्रत कथा, इस एकादशी की व्रत कथा  मात्र से पापों से छुटकारा और धन संपदा लक्ष्मी की प्राप्ति होगी

इस कथा का सारांश यह है कि लुम्पक एक अत्यंत दुष्ट और पापी था, जो अपने पिता के धन को व्यर्थ नष्ट करता था और देवता, ब्राह्मण, वैष्णव आदि का अपमान करता था। उसके पिता ने उसे राज्य से निकाल दिया और वह एक जंगल में रहने लगा। वहां भी वह निर्दोष जानवरों का शिकार करता था और रात को नगर में चोरी और हत्या करता था। एक दिन वह एक पीपल के पेड़ के नीचे सो रहा था, जो कि भगवान विष्णु का प्रिय था। उस रात पौष मास की दशमी तिथि थी और वह ठंड के कारण नहीं सो पाया। उसने अपने पापों का पश्चाताप किया और भगवान विष्णु को याद किया। उसने अपने पास पड़े फलों को भगवान को भोग लगाया और उनकी पूजा की। अगली सुबह वह एक घोड़े पर सवार होकर अपने राज्य में लौट आया और उसके पिता ने उसे खुशी से गले लगाया। वह अपने पापों से मुक्त हो गया और भगवान विष्णु का भक्त बन गया।

यह कथा बताती है कि सफला एकादशी का व्रत कितना शक्तिशाली है, जो कि एक बार में ही इतने बड़े पापों का नाश कर सकता है। इसलिए, जो भी इस व्रत को श्रद्धा और भक्ति से करता है, उसे सफलता, सुख, समृद्धि और मोक्ष की प्राप्ति होती है।

इस दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना करने का विधान है इस दिन गरीबों की सहायता करते हुए भगवान विष्णु मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना श्रद्धा से करनी चाहिए। शास्त्रों में बताया गया है एकादशी की कहानी कहानी सुनने और इसका प्रचार करने से भगवान विष्णु की भक्ति से मुक्ति और विष्णु भगवान की कृपा प्राप्त होती है।

जय श्री हरि विष्णु …… ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमः   जय एकादशी माता की…

By Vishal Ki Report

2017 में देश की राजधानी दिल्ली से पत्रकारिता में PGDJMC और MJMC पढ़ाई के साथ पत्रकारिता में उतारते हुए फर्स्ट डिग्री पास करने के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अल- जजीरा , राइटर और एजेंसी ऑफ फ्रांस प्रेस AFP और गूगल न्यूज़ इंस्टिट्यूट के साथ पत्रकारिता फैक्ट चेक , टीवी पत्रकारिता और डिजिटल पत्रकारिता क्षेत्र में ( TV + PRINT + DIGITAL ) में अनुभव के साथ एक दर्जन से अधिक सर्टिफिकेट कोर्स पास के साथ पत्रकारिता करने का 7 वर्षों का देश के अलग-अलग हिस्सों का अनुभव....

Related Post

संबंधित खबरें