20/06/2024

Gyanvapi Case : दोनों पक्षों को सौंपी गई ज्ञानवापी ASI सर्वे की रिपोर्ट, सर्वे के मुताबिक पहले यहां बड़ा मंदिर था

By Vishal Ki Report जनवरी 25, 2024

Gyanvapi Case : दोनों पक्षों को सौंपी गई ASI रिपोर्ट, सर्वे के मुताबिक यहां पर हिंदू मंदिर होने के प्रमाण

ज्ञानवापी सच: ASI सर्वे में 7 बड़े खुलासे
ज्ञानवापी मामला: एएसआई सर्वेक्षण से पता चला कि मौजूदा ढांचे के निर्माण से पहले वहां एक बड़ा हिंदू मंदिर मौजूद था। सर्वे में स्पष्ट हो गया है

ASI ने ज्ञानवापी सर्वे की 839 पन्ने की रिपोर्ट सार्वजनिक की। इस बिल्डिंग से जो स्तंभ मिले, वो हिन्दू मंदिर के हैं। पश्चिमी दीवार भी मंदिर का हिस्सा है। 32पॉइंट ऐसे, जहां मंदिर होने के सुबूत मिले है।

ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट की प्रमाणित कॉपी

Gyanvapi sarve report | ज्ञानवापी केस

ज्ञानवापी परिसर की एएसआई की सर्वे रिपोर्ट गुरुवार को जिला जज डॉ. अजय कृष्ण विश्ववेश की अदालत ने सार्वजनिक कर दी है। रिपोर्ट के मुताबिक, ज्ञानवापी में मंदिर का स्ट्रक्चर मिला है। इससे पहले ज्ञानवापी परिसर की सीलबंद सर्वे रिपोर्ट को लेकर जिला जज ने बुधवार को बड़ा फैसला सुनाया था। जिला जज ने वादी पक्ष को सर्वे रिपोर्ट दिए जाने का आदेश दिया था।

ज्ञानवापी परिसर का विवाद 350 साल से भी ज्यादा पुराना है। हिन्दू पक्ष का दावा है कि इसके नीचे 100 फीट ऊंचा आदि विश्वेश्वर का स्वयंभू ज्योतिर्लिंग है। मस्जिद के ठीक बगल में काशी विश्वनाथ मंदिर है। दावा है कि इस मस्जिद को औरंगजेब ने एक मंदिर तोड़कर बनवाया था।

ज्ञानवापी रिपोर्ट की संक्षिप्त जानकारी

ज्ञानवापी का इंतजार करते नंदी महाराज की प्राचीन तस्वीर


“ASI के मुताबिक़ एक बड़ा हिंदू मंदिर था इस मस्जिद से पहले।

32 साक्ष्य हिन्दू मंदिर के।

ASI ने माना कि ये एक पुराना ढाँचा है, जिसके ऊपर नया structure बनाया गया।”

ध्यान देने वाली बात ये है कि अयोध्या मामले में हुए फ़ैसले में ASI की रिपोर्ट का बेहद अहम रोल था।

ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट

ज्ञानवापी मामले की पूरी रिपोर्ट जल्द ही…

By Vishal Ki Report

2017 में देश की राजधानी दिल्ली से पत्रकारिता में PGDJMC और MJMC पढ़ाई के साथ पत्रकारिता में उतारते हुए फर्स्ट डिग्री पास करने के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अल- जजीरा , राइटर और एजेंसी ऑफ फ्रांस प्रेस AFP और गूगल न्यूज़ इंस्टिट्यूट के साथ पत्रकारिता फैक्ट चेक , टीवी पत्रकारिता और डिजिटल पत्रकारिता क्षेत्र में ( TV + PRINT + DIGITAL ) में अनुभव के साथ एक दर्जन से अधिक सर्टिफिकेट कोर्स पास के साथ पत्रकारिता करने का 7 वर्षों का देश के अलग-अलग हिस्सों का अनुभव....

Related Post

संबंधित खबरें